Home ब्रेकिंग न्यूज केरल और पंजाब के बाद अब राजस्थान विधानसभा में भी पास...

केरल और पंजाब के बाद अब राजस्थान विधानसभा में भी पास हुआ CAA के खिलाफ प्रस्ताव, BJP विधायकों ने की नारेबाजी….

नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन जारी हैं. केरल और पंजाब सरकार CAA के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर चुकी है. अब इस फेहरिस्त में एक और राज्य का नाम जुड़ गया है.

जयपुर: नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन जारी हैं. केरल और पंजाब सरकार CAA के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर चुकी है. अब इस फेहरिस्त में एक और राज्य का नाम जुड़ गया है. राजस्थान सरकार ने भी संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पास कर दिया है. प्रस्ताव पारित किए जाने के दौरान बीजेपी विधायकों ने विधानसभा में जमकर नारेबाजी की. सूबे के मुखिया अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार केंद्र के इस कानून का पुरजोर विरोध करती है. इसी दिशा में विधानसभा में शनिवार राज्य सरकार ने इस कानून के खिलाफ प्रस्ताव रखा, जिसे पास कर दिया गया है.

केरल और पंजाब सरकार भी नागरिकता कानून के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर चुकी है. इतना ही नहीं, केरल सरकार इस कानून के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का भी रुख कर चुकी है. केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने राज्य सरकार द्वारा प्रस्ताव पास करने को असंवैधानिक बताया था. उन्होंने सरकार के शीर्ष अदालत जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था, राज्य सरकार की ओर से उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई. राजभवन के एक शीर्ष सूत्र ने बताया, ‘राज्यपाल कार्यालय ने CAA के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख करने के राज्य सरकार के कदम के बारे में उन्हें सूचित नहीं करने को लेकर मुख्य सचिव से रिपोर्ट तलब की है.’

CAA के खिलाफ केरल सरकार के SC जाने से नाराज राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, कहा- मैं सिर्फ रबर स्टैंप नहीं

गौरतलब है कि मोदी सरकार ने शीतकालीन सत्र में संसद में नागरिकता संशोधन बिल पेश किया था. सरकार ने लोकसभा और राज्यसभा से इसे पारित करवा लिया और राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद कानून का संशोधित रूप लागू हो गया. बिल को सदन में पेश किए जाने के समय से ही इसका पुरजोर विरोध हो रहा है. उस समय असम और मणिपुर में लोग सड़कों पर निकले और केंद्र सरकार से इस बिल को वापस लेने की मांग करने लगे. वहां प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया और इसमें कई लोग मारे गए.

दिल्ली के शाहीन बाग में एक महीने से ज्यादा समय से इस कानून के खिलाफ मुस्लिम महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं. दिल्ली के अलावा देश के कई राज्यों में मुस्लिम ही नहीं बल्कि कई धर्मों के लोग CAA के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इसे लेकर सोशल मीडिया भी दो धड़ों में बंटा नजर आ रहा है. कई बॉलीवुड हस्तियां भी खुलकर इस कानून के विरोध में सामने आई हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) साफ कह चुके हैं कि संशोधित कानून किसी भी कीमत पर वापस नहीं लिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वर्तमान महामहिम राष्ट्रपति कोविंद जी आप भी पूर्व महामहिम राष्ट्रपति डॉ० के०आर० नारायणन जी कुछ सीख लीजिये। समाज इसका हिसाब आपसे जरूर पुछेगा।

महामहिम राष्ट्रपति डॉ० के०आर० नारायणन देश के पहले दलित राष्ट्रपति थे ।उनका सम्पूर्ण जीवन सघर्ष से भरा हुआ था। वे केरल के एक गांव...

दिनाँक 28 जून 2020 को बुद्ध शिक्षा प्रसार समिति(रजि),अलीगढ़ द्वारा “ऑनलाइन बहुजन कवि सम्मेलन”का आयोजन

आज दिनाँक 28 जून 2020 को "ऑनलाइन बहुजन कवि सम्मेलन"  का आयोजन किया गया जोकि Zoom aap के माध्यम से किया गया । कार्यक्रम...

गलवां घाटी में हुई हिंसक झड़प शहीद हुए सैनिकों को श्रृद्धांजलि व आत्मा की शान्ति के लिए यज्ञ

दिनांक 20 जून 2020, दिन शनिवार सुबह 9ः30 बजे। सुभाषवादी भारतीय समाजवादी पार्टी (सुभास पार्टी) द्वारा अपने कार्यालय एफ-10, जगदीश नगर, गाजियाबाद में गलवां...

RBI द्वारा कर्ज पर मिली राहत के बावजूद अधिकतर EMI अदा करने के लिए मजबूर

लखनऊ ANN : देश अन-लॉकडाउन के पहले चरण में है। इससे देश के कई हिस्सों में बिजनेस वापस पटरी पर लौट रहा है। इसी...

Recent Comments