Home अपराध असामाजिक तत्वों ने दलित समाज के परिवार पर ट्रेक्टर चढाया और धारदार...

असामाजिक तत्वों ने दलित समाज के परिवार पर ट्रेक्टर चढाया और धारदार हथियारो से हमला किया

लालसोट । दरसल उतरप्रदेश के बाद में सबसे ज्यादा दलित उत्पीड़न की घटना राजस्थान से हर दिन दलित अत्याचार का मामला सामने आते रहते है। राजस्थान में दलित उत्पीड़न की घटना लगातार आ रही है। अब एक और दलित उत्पीड़न की घटना आयी है। यह -दौसा जिला की है। जहाँ जमीनी विवाद में दोनों पक्षों में खुनी संघर्ष हुआ। और दबंगो ने दलित समाज के परिवार पर ट्रेक्टर चढाया और धारदार हथियारो से हमला किया

मामला राजस्थान के  दौसा जिला के  मुण्डिया(रामपुरा) तहसील- लालसोट की है। जहाँ पर इन्सानियत के दुश्मन जातिवादी गन्दी मानसिकता के दंबगो द्वारा अनुसूचित जाति के दलित समाज के लोगो की खातेदारी जमीन पर जबरदस्ती कब्जा करने और दलित समाज के लोगो के एक व्यक्ति पर ट्रेक्टर चढाया था।  दलित समाज पर दबंगो द्वारा परिवार के अन्य सदस्यो पर धारदार हथियारो से हमला करके घायल करने वाले लोगो पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया गया है

दरसल बैरवा और गुर्जर  समुदाय में दोनों पक्षों में खुनी संघर्ष हुआ जिस में आठ लोग घायल हो गए जिस में से दो लोगो की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें जयपुर रेपर किया गया।

 

पीड़ित परिवार ने इस मामले की की शिकायत पुलिस में दे दी है। थानाधिकारी  अमित चौधरी ने कहा है। की दोनों पक्षों बबूल के पद को लेकर विवाद हुआ था। पुलिस इस मामले में करवाई कर रही है।

सूत्रों के हवाले से……

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इटावा जनपद के पत्रकारों ने खोला प्रशासन के खिलाफ मोर्चा और संगोष्ठी का किया आयोजन …

लखनऊ :-कानपुर मंडल ब्यूरो चीफ प्रवीन गौतम प्रज्ञा प्रसार राष्ट्रीय हिन्दी समाचार पत्र के नेतृव में एक संगोष्ठी मीटिंग का आयोजन किया उन्होंने बताया कि...

सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के कारण निधन, 71 वर्ष की उम्र में कर दिया दुनिया को अलविदा

अपने डांस और कोरियोग्राफी से सबके दिलों में जगह बनाने वाली सरोज खान का शुक्रवार देर रात कार्डियक अरेस्ट के कारण मुंबई में निधन...

कानपुर ब्रेकिंग- सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्र एसओ शिवराजपुर महेश यादव समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या

योगीजी के शासन काल में अपराधियों के हौंसले बुलन्द हो चुके हैं क्या यही रामराज्य है अगर हाँ तो नहीं चाहिए ऐसा रामराज्य जहाँ...

वर्तमान महामहिम राष्ट्रपति कोविंद जी आप भी पूर्व महामहिम राष्ट्रपति डॉ० के०आर० नारायणन जी कुछ सीख लीजिये। समाज इसका हिसाब आपसे जरूर पुछेगा।

महामहिम राष्ट्रपति डॉ० के०आर० नारायणन देश के पहले दलित राष्ट्रपति थे ।उनका सम्पूर्ण जीवन सघर्ष से भरा हुआ था। वे केरल के एक गांव...

Recent Comments